साडा वीर क्या है और यह किस प्रकार बनता है? करे जड़ो का विकाससाडा वीर का उपयोग क्यों आवश्यक हैं?

साडा वीर क्या है?

भूमि में जब हम कम्पोस्ट खाद (गोबर ,पत्तियों व अनाजो इत्यादि के अवशेषों से बनी हुई खाद) मिटटी में मिलाते है तब वह पहले जीवाणुओं दुआरा की गई विशेष रासायनिक प्रकिया के फलस्वरूप कार्बनिक अम्लो में पौधे के लिए आवश्यक सूक्ष्म पोषक तत्व घुले होते है जिनको पौधा ग्रहण करता है यह कार्बनिक अम्ल बहुत थोड़ी ही मात्रा में बन पाते हैं इन्ही कार्बनिक अम्लो का मिश्रण ही साडा वीर हैं

करे जड़ो का विकास

बुवाई के साथ इसका प्रयोग करने से पौधे की जड़े लम्बी घनी एवं मजबूत होती है जिससे पौधा जमीन से अधिक पोषण प्राप्त करता है तथा मजबूती के साथ खड़ा रहता है

साडा वीर का उपयोग क्यों आवश्यक हैं?

प्रतिदिन रासायनिक उवर्रको के अंधाधुंध प्रयोग से भूमि की उवरा शक्ति कमजोर होती जा रही है तथा कुछ क्षेत्रों में भूमि बंजर होने की कगार पर पहुच चुकी है जिसके परिणाम स्वरुप फसल उत्पादन में कमी आ रही है तथा मनुष्य के स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ रहा है

गन्ने में सिर्फ साडा वीर ही लगाया, कोराजिन नहीं लगाया फिर भी गन्ने की उपज दुगनी हो गई।

न्यूट्रीवर्ल्ड के न्यूट्री माइंड से डॉयबिटीज में बहुत आराम मिला

विपिन वर्मा जी शाहजहाँपुर उत्तर प्रदेश से

 

 

 

 

 

Pages