स्वास्थ्य समाचार

Subscribe to स्वास्थ्य समाचार  feed
Updated: 16 hours 26 min ago

हर समय खुद के बारे में सोचना और बुदबुदाना हो सकती है मानसिक बीमारी

Mon, 03/12/2018 - 14:00

जीवन में सफलता का मूलमंत्र है आत्मनिरीक्षण यानि खुद के बारे में सोचना और अपनी कमियों को ठीक करना। मगर क्या आपको पता है कि खुद के बारे में ज्यादा सोचना भी एक तरह की मानसिक बीमारी है और इसकी वजह से आपकी सेहत पर भी असर पड़ सकता है। कुछ लोगों को ज्यादा सोचने की आदत होती है। इनमें से कुछ ऐसे लोग होते हैं जो खुद के बारे में ही सोचते रहते हैं। खुद के बारे में सोचना अच्छी बात है मगर जरूरत से ज्यादा सोचना गलत है। जब आप अपने बारे में ज्यादा सोचते हैं तो आपके अंदर अपने काम के प्रति और जीवन के प्रति नकारात्मकता बढ़ जाती है

अगर आप अंधेरे में यूज करते हैं स्मार्टफोन, सावधान !

Mon, 03/12/2018 - 13:49

अधिकतर लोग स्मार्टफोन का यूज करते हैं। लेकिन इनमें से कुछ ऐसे लोग हैं जो रात में सोने से पहले या अंधेरे में भी काफी देर तक स्मार्टफोन का पर काम करते हैं। इसका आंखों और ब्रेन पर काफी बुरा असर पड़ता है। इसको लेकर कई रिसर्च और स्टडीज भी हो चुकी हैं, जिनमें यह साबित हुआ है कि अंधेरे में स्मार्टफोन की स्क्रीन पर काम करना कितना खतरनाक है। इन्हीं रिसर्च और स्टडीज के आधार पर हम बता रहे हैं अंधेरे में स्मार्टफोन यूज

दिमागी दौरा या ब्रेन स्ट्रोक से पाएं छुटकारा

Mon, 03/12/2018 - 13:42

इसका परिणाम होता है दिमागी दौरा या ब्रेन स्ट्रोक। यह मस्तिष्क में ब्लड क्लॉट बनने या ब्लीडिंग होने से भी हो सकता है। रक्त संचरण में रुकावट आने से कुछ ही समय में मस्तिष्क की कोशिकाएं मृत होने लगती हैं, क्योंकि उन्हें ऑक्सीजन की आपूर्ति रुक जाती है।  हमारी जीवनशैली में आए बदलाव का सीधा असर हमारे मानसिक स्वास्थ्‍य पर पड़ता है। कम उम्र में तनाव और अवसाद की बीमारियों ने हमारे जीवन में गहरी पैठ बना ली है। अधिक तनाव और अवसाद के गंभीर परिणाम दिमागी दौरे के रूप में भी देखने को मिलते हैं। इसके चलते अपने हर छोटे-बड़े काम के लिए उसकी निर्भरता किसी दूसरे व्यक्ति पर हो जाती है। अनके मरीज

Tags: ब्रेन स्ट्रोक के कारणब्रेन स्ट्रोक का इलाजब्रेन स्ट्रोक का आयुर्वेदिक इलाजब्रेन स्ट्रोक ट्रीटमेंटब्रेन स्ट्रोक का उपचारब्रेन स्ट्रोक रिकवरी टाइमब्रेन स्ट्रोक का आयुर्वेदिक उपचारस्ट्रोक क्या है

कमर की चर्बी कम करने के लिये पीजिये ढेर सारा पानी

Sun, 03/11/2018 - 23:34

प्रमुख लेखक तथा यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन, यूएसए के असिस्टेंट प्रोफ़ेसर टैमी चंग के अनुसार 'हमेशा हाईड्रेट रहना आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है तथा हमारे अध्ययन से इस बात का पता चलता है कि इसका संबंध स्वस्थ व नियंत्रित वज़न से भी है।" 

चंग ने बताया कि 'हमारे अध्ययन के अनुसार जब हम जनसंख्या के स्तर पर मोटापे को संबोधित करते हैं तब हाइड्रेशन की तरफ अधिक ध्यान देना महत्वपूर्ण हो जाता है। निष्कर्षों से पता चला कि वे लोग जो मोटे हैं तथा जिनका बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) अधिक है उनमें पर्याप्त हाइड्रेशन नहीं पाया जाता।

Tags: यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगनबॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई)कार्बोहाइड्रेटप्रोटीनहाइड्रेशनएनल्स ऑफ़ फैमिली मेडिसिन पत्रिका

टाइम पत्रिका की स्तनपान वाली तस्वीर पर विवाद

Sat, 03/10/2018 - 23:37

अमरीका से प्रकाशित होने वाली पत्रिका 'टाइम' के कवर पर प्रकाशित तस्वीर ने दुनिया भर में विवाद खड़ा कर दिया है.

इस तस्वीर में एक तीन बरस के एक तीन बच्चे को अपनी माँ का स्तनपान करते हुए दिखाया गया है.

कुछ लोग इस तस्वीर को लेकर आपत्ति जता रहे हैं तो कुछ इसकी तारीफ़ कर रहे हैं.

लेकिन इस विवाद से परे तस्वीर खिंचवाने वाली माँ ने पत्रिका को दिए साक्षात्कार में कहा है, "लोगों को समझना होगा कि ये जैविक रुप से सामान्य बात है."

हार्ट अटैक के लक्षण और बचने के उपाय

Fri, 03/09/2018 - 16:13

हार्ट अटैक की बीमारी आजकल एक आम समस्या बनती जा रही है और हमारे भारत में तो यह बिल्कुल कॉमन हो गया है ज़्यादातर नौजवान लोगों में हार्ट अटैक आने की काफी मामले सामने आ रहे हैं. हेल्थ टिप्स इन हिंदी ब्लॉग में आज हम आपको बता रहे हैं कि अगर किसी को हार्ट अटैक आ जाए तो हार्ट अटैक आने के 5 मिनट के अंदर आप यह काम करें और इन सावधानियों का ख्याल रखें जिससे मरीज की जान तुरंत बचाई जा सके.

Tags: हार्ट अटैक से बचने के देसी उपायहार्ट अटैक के बादहार्ट अटैक का आयुर्वेदिक इलाजहार्ट अटैक से कैसे बचें हार्ट अटैक क्या हैसाइलेंट हार्ट अटैकहार्ट अटैक के लक्षण इन हिंदीदिल का दौरा के लक्षण

दूध को इस प्रकार पिये

Thu, 03/08/2018 - 23:51

दूध शरीर के लिये सबसे जरुरी चीज़ है जिसका हमारे आहार में शामिल होना महत्‍वपूर्ण है। आयुर्वेद, सभी को नियमित रूप से हल्‍का गर्म दूध पीने की सलाह देता है। दूध में विटामिन (A, K और B12), थायमाइन और निकोटिनिक एसिड, मिनरल्‍स जैसे- कैल्शियम, फास्फोरस, सोडियम और पोटेशियम पाए जाते हैं। READ: आयुर्वेद के अनुसार दूध पिने के कुछ नियम इस बात पर काफी बहस हो चल रही है कि दूध पीने का सही समय क्‍या होता है। यदि इसका सेवन दिन में किया जाए तो यह हमें दिनभर एनर्जी देगा। अगर इसे रात मे पिया जाए तो यह दिमाग को शांत और अनिंद्रा दूर करेगा। आयुर्वेद में रात को दूध पीने की प्राथमिकता दी गई है।

निम्बू है कई बिमारियों का इलाज

Thu, 03/08/2018 - 23:50

नींबू : गुण में मीठा, स्वाद में खट्टा
* सुबह-शाम एक गिलास पानी में एक नींबू
निचोड़कर पीने से मोटापा दूर होता है।
* बवासीर (पाइल्स) में रक्त आता हो तो नींबू
की फांक में सेंधा नमक भरकर चूसने से
रक्तस्राव बंद हो जाता है।
* आधे नींबू का रस और दो चम्मच शहद मिलाकर
चाटने से तेज खाँसी, श्वास व जुकाम में लाभ
होता है।
* नींबू ज्ञान तंतुओं की उत्तेजना को शांत
करता है। इससे हृदय की अधिक धड़कन सामान्य
हो जाती है। उच्च रक्तचाप के रोगियों की
रक्तवाहिनियों को यह शक्ति देता है।

Tags: निम्बू के गुणनींबू का रसनींबू का उपयोगनिम्बू के नुकसाननींबू के लाभनींबू के फायदे और नुकसाननींबू के औषधीय गुणलेमन के फायदे

नींद में चलना

Thu, 03/08/2018 - 23:48

नींद में चलना एक विचित्र प्रकार की बीमारी है जो कि कुछ ही लोगों में पायी जाती है। इस रोग में रोगी नींद में ही चलने लगता है। इस बीमारी का रोगी रात में नींद से उठकर अपने बिस्तर से चलता है और एक जागे हुए मनुष्य की तरह विभिन्न कार्य को आसानी से कर देता है लेकिन जब वह सुबह जागता है तो उसे अपने द्वारा नींद में किए गए कार्य याद नहीं रहता। यह एक विचित्र बीमारी है जो कि स्नायुविक गड़बड़ी से होती है।

घरेलु आयुर्वेदिक उपचार :

Tags: नींद में चलने की आदतनींद में बोलनानींद में बड़बड़ानानींद में चलनानींद में डरनानिद्रा रोग के कारणनींद आने के मंत्रनिद्रा का अर्थ

तेजी से फैल रहा है टेक स्ट्रेस, कहीं आप में भी तो नहीं ऐसे लक्षण?

Thu, 03/08/2018 - 11:45

लाइफस्टाइल में गैजेट्स का महत्व बढ़ता जा रहा है। सुबह से शाम तक फोन व लैपटॉप में व्यस्त रहने के कारण अगर थोड़ी देर के लिए भी इनसे दूरी बनानी पड़ जाए तो मन बेचैन होने लगता है। इसी स्ट्रेस को टेक स्ट्रेस कहते हैं। आज की जीवनशैली में गैजेट्स की अहमियत को नकारा नहीं जा सकता है। हर छोटे-बड़े काम के लिए लोगों की उन पर निर्भरता बढ़ती जा रही है। पढ़ाई, बैंकिंग, एंटरटेनमेंट व न्यूज़ पढऩे जैसी बेसिक ज़रूरतों के लिए मोबाइल फोन व लैपटॉप का इस्तेमाल हर किसी की ज़रूरत  बन गया है। जहां विभिन्न ऐप्स ने हमारा काम आसान बनाया है तो वहीं समय-समय पर इन गैजेट्स से दूरी बनाए जाने की सलाह भी दी जाती है।

रात में बार-बार भूख लगने की आदत, इस गंभीर बीमारी का है संकेत

Thu, 03/08/2018 - 11:39

भूख लगना आमतौर पर एक शारीरिक क्रिया है, जो किसी भी समय लग सकती है। खासकर सुबह, दोपहर और शाम को हर किसी को भूख लगती है। क्‍योंकि यही हमारे खाने का सही समय होता है। लेकिन कभी-कभी यही भूख किसी बीमारी का संकेत भी हो सकते हैं। अगर आपको रात में बार-बार उठ-उठकर कुछ ना कुछ खाने की आदत है तो यह ईटिंग सिंड्रोम जैसी खतरनाक बीमारी का संकेत है।

क्‍या है ईटिंग सिंड्रोम

बोर्ड परीक्षा के दौरान बच्‍चे करें ये 2 आसान काम, तनाव रहेगा कोसों दूर

Thu, 03/08/2018 - 11:31

न टीवी, न फोन और न ही दोस्तों के साथ घूमने जाने की परमीशन, अगर कुछ सबसे ज्यादा नज़दीक होगा तो वो है किताबें और नोट्स!

जानिये कितना होना चाहिए आपका कोलेस्ट्रॉल और कब शुरू होती है इससे परेशानी

Wed, 03/07/2018 - 12:02

आजकल की अनियमित जीवनशैली और अस्वस्थ खानपान के कारण दिल की बीमारियों की संभावना बहुत ज्यादा हो गई है। दिल की बीमारियों की एक बड़ी वजह शरीर में कोलेस्ट्रॉल का बढ़ जाना है। शरीर अच्छी तरह काम करे इसके लिए शरीर में एक निश्चित कोलेस्ट्रॉल लेवल होना चाहिए। कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ने से शरीर में कई तरह की परेशानियां शुरू हो जाती हैं जैसे आर्टरी ब्लॉकेज, स्टोक्स, हार्ट अटैक और दिल की अन्य बीमारियां। दरअसल कोलेस्ट्रॉल वैक्स या मोम जैसा एक ऐसा पदार्थ है जो लिवर बनाता है। ये हमारे शरीर में कोशिकाओं और हार्मोन्स के निर्माण के लिए जरूरी होता है। इसके अलावा ये बाइल जूस बनाने में भी मदद करता है। आइये आपको

ऑस्टियोआर्थराइटिस में इन 5 आहारों के सेवन से बढ़ जाते हैं दर्द और सूजन

Wed, 03/07/2018 - 11:55

आजकल अनियमित खानपान अस्वस्थ आहार और बिना शारीरिक मेहनत के गुजर रही जिंदगी के कारण लोग कई तरह के रोगों से परेशान हैं। इन रोगों के कारण और पोषण की कमी के कारण शरीर के अंगों और दिमाग के साथ-साथ हड्डियां भी प्रभावित हो रही हैं। इसी तरह का एक रोग है गठिया यानि आर्थराइटिस, जिसमें आदमी के जोड़ों में लगातार दर्द होता है, जिससे उसके रोजमर्रा के काम प्रभावित होते हैं। ऑस्टियोआर्थराइटिस आर्थराइटिस का ही एक रूप है जिसमें एक या एक से ज्यादा जोड़ों के कार्टिलेज टूट जाते हैं या घिसते रहते हैं। इस रोग में हड्डियों के कमजोर होने के कारण जोड़ों में दर्द शुरू हो जाता है। ऑस्टियोआर्थराइटिस होने पर

डायबिटीज से आंखों को होता है डायबिटिक रेटिनोपैथी का खतरा, जानिये इसके लक्षण

Wed, 03/07/2018 - 11:27

डायबिटीज के मरीजों की संख्या विश्वभर में तेजी से बढ़ रही है। डायबिटीज अगर ज्यादा बढ़ जाए तो ये खतरनाक बन जाता है। डायबिटीज के कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित होती है और इससे शरीर के कई अंगों पर भी प्रभाव पड़ता है। आंखों और किडनी पर इसका असर सबसे ज्यादा होता है। डायबिटीज में ब्लड शुगर का लेवल बढ़ता जाता है और इससे आंखों से जुड़ी परेशानियों का खतरा भी बढ़ता जाता है। आमतौर पर डायबिटीज बढ़ने के साथ-साथ रोगी के चश्मे का नंबर बढ़ता जाता है और कई बार तो ये स्तर अंधेपन तक पहुंच जाता है। इसी रोग को डायबिटीक रेटिनोपैथी कहते हैं।

 

जानिए क्या हैं हृदय रोग के लक्षण

Wed, 03/07/2018 - 10:56

हृदय हमारे शरीर का एक महत्त्वपूर्ण अंग है। यह छाती के मध्य में, थोड़ी सी बाईं ओर स्थित होता है। हमारा ह्रदय एक दिन में लगभग एक लाख बार एवं एक मिनट में 60-90 बार धड़कता है। हृदय की मांसपेशिया जीवंत होती है और उन्हें जिन्दा रहने के लिए आहार और ऑक्सीजन की जरूरत होती है। जब एक या ज्यादा आर्टरी रुक जाती है तो हृदय की कुछ मांसपेशियों को आहार और ऑक्सीजन नही मिल पाती। इस स्थिति को हार्ट अटैक यानी दिल का दौरा कहा जाता है। (इस सिलसिले में कुछ लोगो को भ्रम हो सकता है कि दिल से संबंधित और भी समस्याएं होती हैं जैसे – हार्ट वॉल्व की समस्या, कंजीनाइटल हार्ट प्रॉब्लम आदि, और जब हम दिल की बीमारियों की बात क

आधे सर का दर्द और उसका इलाज

Tue, 03/06/2018 - 11:04

जब मनुष्य के सिर के आधे भाग में दर्द हो और आधे भाग में दर्द न हो तो उसे आधासीसी या माईग्रेन कहते हैं।

करण :

मानसिक व शारीरिक थकावट, अधिक गुस्सा करना, चिन्ता करना, आंखों का अधिक थक जाना, अत्यधिक रूप से भावनाओं में बहकर भावुक होना, भोजन का न पचना, किसी तरल पदार्थ को पीने से एलर्जी होना आदि माइग्रेन रोग के कारण हैं। प्रमेह (वीर्य विकार) और मधुमेह (शुगर) के रोगियों को भी यह रोग होता है।आइये जाने सिर दर्द का इलाज के घरेलू उपाय

उपचार :

Tags: आधा सिर दर्द का इलाजआधा सिर दर्द का मंत्रआधा सिर दर्द का कारणअधकपारी का इलाजआधा सिर दर्द के कारणआधा सिर दर्द की दवासिर दर्द का उपायआधा शीशी का दर्द

सेहतमंद बालों के लिए रोज करें योग

Tue, 03/06/2018 - 09:09

रूखे और बेजान बालों या सिर पर तेज़ी से कम होते बालों को देखकर आप अंदाज़ा लगा सकती हैं कि हमारी दिनचर्या कितनी व्यस्त है. चिंता, ख़राब जीवनशैली का चुनाव, जेनेटिक्स, मेडिकेशन, हार्मोनल असंतुलन और बालों के ट्रीटमेंट के लिए केमिकल्स का अत्यधिक इस्तेमाल बचे-खुचे बालों को भी नष्ट कर देता है. इससे पहले कि आप बालों की रक्षा के लिए किसी प्रॉडक्ट का इस्तेमाल करें, हम आपको योग करने की सलाह देते हैं. दमकती हुई त्वचा देने के साथ पूरी सेहत में सुधार लानेवाला योग बालों के लिए भी उम्दा नतीजे देता है. ‘‘कुछ योग मुद्राएं स्कैल्प, फ़ॉलिकल्स में रक्त प्रवाह को बढ़ाकर बेचैनी और चिंता से राहत प्रदान करती हैं.

कब्ज को करें गुडबाय

Tue, 03/06/2018 - 09:03

कब्ज शरीर की सबसे आम बीमारियों में गिनी जाती है। खान-पान में गड़बड़ी व खराब जीवनशैली के कारण अधिकांश लोग इसकी चपेट में आ जाते हैं।

शरीर में वात के बढऩे से कब्ज होती है। खान-पान की गलत आदतें, भूख से ज्यादा खाना, मीट और मुश्किल से पचने वाली भारी अन्न को खाना और फल-सब्जियां-सलाद कम खाने से कब्ज होती है। नींद पूरी न होना, तनाव-भय-चिंता या शोक आदि भी कब्ज का कारण हो सकते हैं। आंत में गांठ और रुकावट की वजह से भी कब्ज हो सकता है।

कब्ज भगाने के नुस्खे

हाई ब्लड प्रेशर के कारण खो सकती है आपकी याददाश्त, जानें क्यों?

Mon, 03/05/2018 - 11:01

 

 

 

 

हाई ब्लड प्रेशर यानि कि उच्च रक्तचाप एक ऐसी समस्या है जिसकी चपेट में लोग सबसे ज्यादा आते हैं। इस रोग को दूसरे शब्दों में हाईपरटेंशन भी कहा जाता है। हाई ब्लड-प्रेशर कोई मामूली रोग नहीं बल्कि घातक बीमारियों में से एक है। आज के समय में छोटे बच्चे से लेकर बड़े तक सभी इस समस्या की चपेट में आ रहे हैं। आज की भाग दौड़ वाली जिन्दगी में घर हो या बाहर, चिन्ता, परेशानी व गुस्सा हमारे दिल दिमाग व शरीर के दूसरे भागों को भी प्रभावित करता है।

Pages